Hindi Speech

आजादी का अमृत महोत्सव पर भाषण

दोस्तों क्या आप आजादी का अमृत महोत्सव पर भाषण (Azadi ka Amrit Mahotsav Speech in Hindi) की तलाश कर रहे हैं तो आपने एकदम सही लेख को चुना है

अमृत महोत्सव के उत्सव पर आप स्कूलों और कॉलेजों में किस प्रकार भाषण बोल सकते हैं आपको नीचे बताया गया है. विद्यार्थियों के लिए यह पोस्ट काफी उपयोगी है. तो आइए आजादी का अमृत महोत्सव पर भाषण जानते हैं

Azadi ka Amrit Mahotsav Speech in Hindi

Azadi ka Amrit Mahotsav Speech in Hindi

आदरणीय प्रधानाचार्य जी, सभी टीचर्स और मेरे प्यारे देशवासियों… आप सभी को मेरा नमस्कार और आजादी के अमृत महोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएं!

“आजादी का अमृत महोत्सव मिलकर हम मनाएं,
मां भारती के चरणों में हम सब शीश झुकाएं”

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि इस वर्ष 15 अगस्त 2022 को हमारे देश भारत को आजाद हुए 75 वर्ष पूरे हो रहे हैं. इस उपलक्ष्य में भारत पिछले एक वर्ष से आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है और यह महोत्सव अगले वर्ष 15 अगस्त 2023 तक मनाया जाएगा

इस महोत्सव को मनाने का एक मुख्य उद्देश्य अंग्रेजों की 200 वर्षों की गुलामी के बाद मिली आजादी को सेलिब्रेट करना है. दूसरा प्रमुख उद्देश्य आजादी को पाने हेतु दिए गए वीर सपूतों के बलिदानों को याद करना है और तीसरा मुख्य उद्देश्य इस उत्सव के जरिए सभी देशवासियों को संघर्षों से मिली आजादी का मूल्य समझाना है और उनमें देशभक्ति की भावना को बढ़ान है साथ ही बीते 75 वर्षों में देश द्वारा प्राप्त की गई उपलब्धियां बतलाना है

आज की युवा पीढ़ी यानि कि हम लोग आजादी के संघर्ष से भली प्रकार से परिचित नहीं है. आजादी पाने हेतु देश को किन-किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा, कितने लोगों की जानें कुर्बान हुई, कितने संघर्ष के बाद हमें ये आजादी मिली यह सब युवा पीढ़ी को जानना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि हम युवा ही देश का भविष्य हैं

हमें आजादी का मूल्य ज्ञात होना ही चाहिए. जिससे कि आने वाले समय में देश को चलाने में आने वाली चुनौतियों का सामना हम कर सकें. हमें विद्यालयों में और किताबों में हमारा इतिहास पढ़ाया तो जाता है, लेकिन आजादी की संघर्ष गाथा को बहुत ही करीब से जानने की आवश्यकता है. बहुत सी गाथाएं हमें पाठ्यक्रम में पढ़ाई नहीं जाती हैं लेकिन उन्हें जानना और देशवासियों को बतलाना बहुत आवश्यक है

हमारे देश भारत की अर्थव्यवस्था तेजी से उभरती हुई अर्थव्यवस्था है. आज भारत हर क्षेत्र में अपना पंचम लहरा रहा है लेकिन हमारे भारत ने बहुत बुरा दौर भी देखा है. 75 वर्ष पूर्व हमें आजादी विभाजन के रूप में मिली. देश की अर्थव्यवस्था की कमर बिल्कुल टूट चुकी थी फिर 1962 में भारत चीन का युद्ध हुआ. बहुत से उतार चढ़ाव देश ने बीते 75 सालों में देखे. फिर भी देश अपने निरन्तर प्रयासों के बल पर आज एक मजबूत अर्थव्यवस्था के रूप में विश्व के सामने खड़ा है

आज भारत की सैन्य शक्ति से भला कौन परिचित नहीं हैं? दुनियाभर की नजरें आज भारत पर टिकी हुई है. भारत की जो छवि दुनिया के सामने आज बनी है, उसके बारे में सोचकर बड़े ही गर्व की अनुभूति होती है. हम बड़े ही भाग्यशाली हैं, जो ऐसे महान देश के वासी हैं. हमें देश के प्रति हमेशा कृतज्ञ रहना चाहिए

आजादी का ये महान उत्सव किसी धर्म या जाति विशेष का नहीं अपितु संपूर्ण भारतदेश का उत्सव है. पूरे भारत देश को इसमें भागीदारी निभानी चाहिए. अमृत महोत्सव के दौरान हो रहे सभी कार्यक्रमों जैसे कि हर घर तिरंगा अभियान में हिस्सा लेकर इस अभियान को सफल बनाना चाहिए. अंत में बस इतना ही कहना चाहूंगा

“महान है भारत देश, महान है इसकी आजादी,
पाने को जिसे वीरों ने अपनी जान गवां दी,
इसी आजादी का अमृत महोत्सव हमें मनाना है,
जन-जन की भागीदारी से आत्मनिर्भर भारत बनाना है”

Read More –

आजादी का अमृत महोत्सव पर भाषण

यहां उपस्थित सभी को मेरा नमस्कार और स्वतंत्रता दिवस की सभी को हार्दिक शुभकामनाएं! आज मैं आप सभी के समक्ष आजादी के 75 वर्षों के जश्न आजादी के अमृत महोत्सव के बारे में कुछ शब्द व्यक्त करना चाहता हूं

“आजादी का अमृत महोत्सव..है भारत माँ के लालों का,
आजादी के मतवालों का, आजाद पिचहत्तर सालों का”

15 अगस्त 2022 को हमारे देश भारत को स्वतंत्र हुए 75 वर्ष पूरे हो रहे हैं. इन आजाद 75 सालों का जश्न अमृत महोत्सव के रूप में देशभर में मनाया जा रहा है. इस महोत्सव का आगाज 12 मार्च 2021 को माननीय प्रधानमंत्री जी के द्वारा किया गया था. यह महोत्सव अगले वर्ष यानि कि 15 अगस्त 2023 तक मनाया जाएगा

आजादी का अमृत महोत्सव को जन-जन से जोड़कर इसे एक जन-महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है. इस महोत्सव के दौरान देशभर के विद्यालयों, सरकारी एवं गैरसरकारी संस्थाओं, कार्यालयों इत्यादि के सहयोग से विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. जिनमें जन-जन की भागीदारी सुनिश्चित की जा रही है

इस महोत्सव ने हम देशवासियों को स्वतन्त्रता संग्राम की महान गाथा को विस्तार से जानने का मौका दिया और आजादी की लड़ाई में योगदान देने वाले एक-एक वीर सेनानी को खोजकर देश के सामने लाया. हम भारतवासी यह तो जानते ही थे कि हमारे भारत देश को सोने की चिड़िया कहा जाता था किंतु इस सोने की चिड़िया का इतिहास भी इतना स्वर्णिम है, यह जानने का अवसर हमें इस महोत्सव के कारण ही मिल पाया

200 वर्षों की गुलामी के बाद मात्र 75 सालों में विकास की ऊंचाइयों तक पहुंचना कोई आसान काम नहीं है. लेकिन हमारे देश भारत ने यह कर दिखाया. आज भारत पूरे विश्व के सामने एक पथप्रदर्शक की भांति खड़ा है. पूरा विश्व आज भारत की तारीफ कर रहा है. यह वास्तव में हर भारतवासी के लिए बड़े ही गर्व की बात है

इसी गर्व की अनुभूति देशवासियों को कराने हेतु भारत इस महोत्सव के दौरान बीते 75 वर्षों की उपलब्धियों को भी गिन रहा है. इन 75 वर्षों में भारत ने क्या खोया क्या पाया यह भी भारत विचार कर रहा है ताकि आने वाले 25 वर्षों, जिन्हें अमृत काल कहा जा रहा है, उसके लिए योजनाएं तैयार की जा सकें. इस दौरान देश के हित में 75 नए संकल्प भी लिए हैं, जिन पर अमृत काल के दौरान कार्य किया जाएगा

“आजादी का अमृत महोत्सव हम सबको मिलकर मनाना है,
जन-जन की भागीदारी से अभियान सफल बनाना है“

संक्षेप में 

दोस्त उम्मीद है आपको आजादी का अमृत महोत्सव पर भाषण (Azadi ka Amrit Mahotsav Speech in Hindi) अच्छा लगा होगा. अगर आपको यह निबंध कुछ काम का लगा है तो इसे जरूर सोशल मीडिया पर शेयर कीजिएगा

अगर आप नई नई जानकारियों को जानना चाहते हैं तो MDS BLOG के साथ जरूर जुड़िए जहां की आपको हर तरह की नई-नई जानकारियां दी जाती है MDS BLOG पर यह पोस्ट पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद !

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी ?

Average rating / 5. Vote count:

अब तक कोई वोट नहीं, इस पोस्ट को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें

MDS Thanks 😃

पोस्ट अच्छी लगी तो सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें

हमें खेद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी नहीं थी !

हमें बताएं कि हम इस पोस्ट को कैसे बेहतर बना सकते हैं ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Please allow ads on our site !

Looks like you're using an ad blocker. We rely on advertising to help fund our site.