Educational

भाषा किसे कहते हैं इसकी परिभाषा और भेद

Bhasha kise kahte hai : दोस्त नमस्कार क्या आप भी जानना चाहते हैं भाषा किसे कहते हैं – What is language in Hindi और भाषा के कितने भेद होते हैं? तो आपके लिए यह पोस्ट काफी लाभकारी साबित होने वाली है

इस पोस्ट के माध्यम से आपको भाषा से संबंधित सभी जानकारी उपलब्ध कराई गई है. तो आइए जानते हैं भाषा के कितने रूप होते हैं?

भाषा क्या है?

भाषा का शाब्दिक अर्थ है आवाज, अर्थात बोलना या जो हम सुनते हैं वह सब भाषा ही तो है

सोचिए यदि भाषा नहीं होगी तो हम एक दूसरे की बातें कैसे समझ पाएंगे. दोस्त भाषा ही एक ऐसी चीज है जिसके माध्यम से हम किसी की बातों को समझ पाते हैं, लिख पाते हैं, पढ़ पाते हैं तथा बोल पाते हैं

हर प्राणी की भाषा बोल अलग-अलग होती है. उदाहरण के लिए जैसे – चिड़िया की भाषा चू-चू, बंदरों की भाषा खीं-खीं और मनुष्य की भाषा जो हम बोलते हैं

जैसे – मैं आपको जानकारी दे रहा हूं कि भाषा क्या है (Bhasha Kya Hai) और आप पढ़कर समझ रहे हैं. दोस्त यह माध्यम ही तो भाषा है. आइए आपको और आसान शब्दों में समझाता हूं

भाषा किसे कहते हैं?

भाषा किसे कहते है, What is Language in Hindi, Language Meaning in Hindi, भाषा के कितने भेद होते हैं, भाषा के भेद, Bhasha kise kahte hai, bhasha ke kitne roop hote hain, Bhasha kya hai

भाषा की परिभाषा (Bhasha ki Paribhasha) ⇒ भाषा वह साधन है जिसके द्वारा हम अपने विचार और भाव दूसरों को समझाते हैं और दूसरे के भाव और विचार खुद समझते हैं

अर्थात एक ऐसा साधन जिसके माध्यम से हम अपने मन के भावों और विचारों को दूसरों तक और दूसरों के मन के भाव और विचारों को समझ सकते हैं भाषा कहलाती है

पतंजली के अनुसार भाषा की परिभाषा ⇒ भाषा के द्वारा मनुष्य स्वयं को अभिव्यक्त करता है

आचार्य देवनार्थ शर्मा के अनुसार भाषा की परिभाषा ⇒ जब मनुष्य उच्चारण के लिए ध्वनि संकेतों की मदद से परस्पर विचार-विनिमय करते हैं तो उस प्रणाली को भाषा कहते है

ऑक्सफ़ोर्ड डिक्शनरी के अनुसार भाषा की परिभाषा ⇒ भाषण और लेखन में संचार का माध्यम जो किसी विशेष देश या क्षेत्र के लोगों द्वारा उपयोग की जाती है, भाषा कहलाती है

भाषा के भेद

भाषा के तीन भेद होते हैं जोकि निम्नलिखित है

  • मौखिक भाषा
  • लिखित भाषा
  • सांकेतिक भाषा

मौखिक भाषा किसे कहते है?

मौखिक भाषा, भाषा का वह रूप है जिसके माध्यम से हम अपने विचारों को अपने मुंह के माध्यम से प्रकट करते हैं

अर्थात वह माध्यम जिससे हम अपने विचारों तथा भावों को एक-दूसरे तक पहुंचाने के लिए मुंह का प्रयोग करते हैं मौखिक भाषा कहलाती है

अगर और आसान शब्दों में समझाऊं तो इस प्रकार समझे कि मुंह से बोली जाने वाली और कानों से सुनी जाने वाली भाषा मौखिक भाषा कहलाती है. जैसे आप टीवी पर समाचार सुनते हैं वह मौखिक भाषा का रूप है

लिखित भाषा किसे कहते है?

लिखित भाषा, भाषा का वह रूप है जिसमें हम अपने शब्दों को लिखकर व्यक्त करते है

अर्थात जिस भाषा में हमें अपने भावों तथा विचारों को व्यक्त करने के लिए लिखने के माध्यम का प्रयोग करना होता है लिखित भाषा कहलाती है

आसान शब्दों में यूं समझे कि लिखित रूप ही लिखित भाषा है. उदाहरण के लिए – आप परीक्षा में लिखकर उत्तर देते हो तो यह लिखित भाषा का रूप है

सांकेतिक भाषा किसे कहते है?

सांकेतिक भाषा, भाषा का वह रूप है जिसे हम इशारों से दूसरे व्यक्ति को समझा सकते हैं

अर्थात जब हम अपने शब्दों को व्यक्त करने के लिए संकेतों का माध्यम अपनाते है तो उसे सांकेतिक भाषा कहते हैं

और आसान शब्दों में इस प्रकार समझे कि सांकेतिक का अर्थ होता है Symbol यानी संकेत, जो भाषा Symbol के माध्यम से व्यक्त की जाती है उसे सांकेतिक भाषा कहते हैं

उदाहरण के लिए आप ने कई बार देखा होगा सड़कों पर बोर्ड लगे रहते हैं जिनमें की कुछ इस प्रकार के ( ↷, ➔, ➚, ↶ ) संकेत होते हैं यानी किस जगह की सड़क कौन सी है यह इन संकेतों के माध्यम से समझाया जाता है यह सांकेतिक भाषा का उदाहरण है

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

मौखिक भाषा और लिखित भाषा में अंतर?

मौखिक भाषा और लिखित भाषा में मुख्य अंतर यह है कि मौखिक भाषा मुंह से बोली जाती है और कानों से सुनी जाती है जबकि लिखित भाषा लिखकर व्यक्त की जाती है और पढ़कर उसे समझा जा सकता है

भाषा के कितने रूप होते हैं?

भाषा के तीन रूप होते हैं जोकि मौखिक भाषा, लिखित भाषा और सांकेतिक भाषा हैं

हिंदी भाषा की लिपि क्या है?

हिंदी भाषा की लिपि देवनागरी है

Read More –

संक्षेप में

मुझे उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट भाषा किसे कहते हैं – What is language in Hindi जरूर पसंद आयी होगा. अगर आपको यह जानकारी कुछ काम की लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिएगा

अगर आप इसी तरह की जानकारियों को जानने के इच्छुक है तो MDS BLOG के साथ जरूर जुड़िए. दोस्त यह पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद !

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी ?

Average rating / 5. Vote count:

अब तक कोई वोट नहीं, इस पोस्ट को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें

MDS Thanks 😃

पोस्ट अच्छी लगी तो सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें

हमें खेद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी नहीं थी !

हमें बताएं कि हम इस पोस्ट को कैसे बेहतर बना सकते हैं ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Please allow ads on our site !

Looks like you're using an ad blocker. We rely on advertising to help fund our site.