Informative

ड्रोन क्या होता है इसके प्रकार, फायदे-नुकसान

दोस्तों आप सभी ने कहीं न कहीं ड्रोन कैमरा जरूर देखा होगा. लेकिन क्या आपको पता है ड्रोन क्या है – What is Drone in Hindi और इसके प्रकार और उपयोगिता क्या है. तो जहां तक मेरा मानना है लगभग 10% लोगों को ड्रोन के बारे में पता होगा. लेकिन आपको नहीं पता तो कोई बात नहीं, आज की यह पोस्ट आप ही जैसे ड्रोन के बारे में इच्छुक लोगों के लिए तैयार की गई है

दोस्तों आज की इस पोस्ट में मैं आपको ड्रोन तकनीक से वाकिफ कराना चाहता हूं. जैसा कि हम सभी जानते हैं विज्ञान और तकनीकी के विकास के बिना कोई भी देश सुरक्षित नहीं है. माना जा सकता है कि विज्ञान एकमात्र ऐसा प्रकाश है, जिसे कहीं भी प्रकाशित करके सभी जगहों को रोशनी से भरा जा सकता है

विज्ञान के क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के अविष्कार प्रतिदिन हमें देखने को मिलते रहते हैं और कई अविष्कार क्रांतिकारी परिवर्तन ला जाते हैं. इसी संदर्भ में वर्तमान में ड्रोन तकनीक के विकास ने भी पूरे विश्व के साथ भारत को भी अहम भूमिका प्रदान की है

आज ड्रोन तकनीक का उपयोग न केवल सामरिक क्षेत्र में, बल्कि जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में किया जा रहा है. लेकिन इस तकनीक के संदर्भ में कुछ चुनौतियां भी है जिस कारण इसका उपयोग सावधानी पूर्वक करने की आवश्यकता है. आइए जानते हैं ड्रोन क्या होता है?

ड्रोन क्या होता है – What is Drone in Hindi

ड्रोन क्या होता है - What is drone in Hindi, drone kya hai, Drone Meaning in Hindi, ड्रोन की उपयोगिता, लाभ या फायदे, ड्रोन के प्रयोग से हानि या नुकसान, ड्रोन की परिभाषा, ड्रोन किसे कहते हैं, ड्रोन क्या चीज है

दोस्तों मानव रहित विमानों को ड्रोन कहते हैं. यह रिमोट से संचालित होने वाला एक प्रकार का छोटा विमान होता है. सही अर्थों में यह एक ऐसा रोबोट है जो उड़ सकता है

ड्रोन का हिंदी अर्थ नर मधुमक्खी है और उड़ने के कारण ही इसे यह नाम मिला है. यह मधुमक्खी के समान ही उड़ान भरता है और एक जगह पर स्थिर होकर मंडरा सकता है

ड्रोन को एक रिमोट अथवा इसके लिए बनाये गये विशेष कंट्रोल रूम से इसे उड़ाया जाता है. ड्रोन का प्रयोग सामान्यता ऐसे दुर्लभ स्थानों में किया जाता है जहां मनुष्य आसानी से पहुंच नहीं पाता है

ड्रोन का अर्थ – Drone Meaning in Hindi

दोस्तों जैसा कि आपने ऊपर जाना ड्रोन एक प्रकार का रोबोट है जो कि उड़ सकता है. दोस्तों ड्रोन को UAV या Unmanned aerial vehicles भी कहा जाता है. ड्रोन मधुमक्खी की तरह एक ही स्थान पर मंडरा सकता है

Drone Meaning in Hindi = मानव रहित उड़ने में सक्षम रोबोट

ड्रोन तकनीक का इतिहास

दोस्तों ड्रोन अथवा मानव रहित विमान बनाने की कोशिश प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान ही आरंभ हो गई थी. वर्ष 1918 में संयुक्त राज्य अमेरिका की सेना ने हवाई तारपिंडो का निर्माण आरंभ किया तथा कटेरिंग बैग नाम से इस यंत्र के कुछ परीक्षण भी किए, लेकिन इसका पूर्ण विकास होने से पहले ही प्रथम विश्व युद्ध समाप्त हो गया था

मानव रहित यंत्र का परीक्षण ऐसी ही जारी रहा और वर्ष 1935 में ब्रिटेन के रॉयल एयरफोर्स ने रेडियो तरंगों से संचालित और निर्देशात्मक चालक रहित विमान तैयार किया जिसके लिए पहली बार ड्रोन शब्द का प्रयोग किया गया था

इसके बाद 1942 में संयुक्त राज्य अमेरिका की सेना ने भी ड्रोन को निशाना साधने और प्रशिक्षण के लिए प्रयोग करना आरंभ किया. 6 अगस्त 1946 को अमेरिका के P-70 flying Protest ड्रोन ने सफलतापूर्वक मुरोक आर्मी एयर फील्ड में उड़ान भरी थी

वियतनाम युद्ध के दौरान भी अमेरिका ने बड़ी संख्या में मानव रहित विमान तैनात किए थे तथा इनका प्रयोग पर्ची गिराने और खुफिया गतिविधियों के लिए हुआ था

दोस्तों मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं सर्वप्रथम 2002 में ड्रोन का प्रयोग पहली बार किसी को निशाना बनाने के लिए किया गया था. 4 फरवरी 2002 को अमेरिका की खुफिया एजेंसी (CIA) ने ओसामा बिन लादेन को निशाना बनाने के लिए अफगानिस्तान के एक शहर में ड्रोन का प्रयोग किया था

इसी दौरान इजरायल और ईरान में भी जासूसी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जाने लगा. भारत में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड और डीआरडीओ कई श्रेणी के ड्रोन का विकास कर रहे हैं

ड्रोन के प्रकार – Types of drones in Hindi

दोस्तों वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दूं ड्रोन कई प्रकार के होते हैं. दोस्तों नीचे दी गई Image से आप ड्रोन के प्रकार पहचान सकते हैं. वैसे लगभग प्रत्येक ड्रोन अलग-अलग खूबियों के लिए प्रसिद्ध है इसीलिए इन्हें विभिन्न श्रेणियों में रखा गया है –

  • Nano drone
  • Micro drone
  • Small drone
  • Medium drone
  • Large drone

ड्रोन के प्रकार - Types of drones in Hindi

1. Nano drone - वे ड्रोन जिनका वज़न 250 ग्राम तक होता है

2. Micro drone - वे ड्रोन जिनका वज़न 250 ग्राम से अधिक लेकिन 2 किलो ग्राम से कम होता है

3. Small drone - वे ड्रोन जिनका वज़न 2 ग्राम किलो से अधिक लेकिन 25 किलो ग्राम से कम होता है

4. Medium drone - वे ड्रोन जिनका वज़न 25 किलो ग्राम से 150 किलो ग्राम तक होता है

5. Large drone - वे ड्रोन जिनका वज़न 150 किलो ग्राम से अधिक होता है

ड्रोन की उपयोगिता, लाभ या फायदे

विज्ञान और तकनीकी के इस युग में विज्ञान ने ड्रोन तकनीक को हमारे जीवन में उतारा है इसके विभिन्न लाभ है. जिनका  नीचे वर्णन किया गया है आइए जानते हैं –

  • राहत एवं बचाव कार्य में ड्रोन का उपयोग
  • कृषि क्षेत्र में ड्रोन की उपयोगिता
  • असामाजिक तत्वों को नियंत्रण करने में ड्रोन का उपयोग
  • सामानों की होम डिलीवरी में ड्रोन का उपयोग
  • रेलवे क्षेत्र में ड्रोन का लाभ
  • स्वच्छ भारत अभियान में ड्रोन का फायदा
  • सैन्य क्षेत्र में ड्रोन का महत्व
  • अन्य सभी क्षेत्रों में ड्रोन का लाभ

राहत एवं बचाव कार्य में ड्रोन का उपयोग

वर्तमान में विभिन्न प्राकृतिक आपदाओं जैसे कि बाढ़, भूकंप आदि के समय राहत और बचाव कार्य के लिए ड्रोन का प्रयोग हो रहा है. अप्रैल 2015 में नेपाल में आए विनाशकारी भूकंप की तस्वीरें ड्रोन से ली गई थी. भारत के केरल राज्य में आई विनाशकारी बाढ़ की भयावहता जानने के लिए ड्रोन का प्रयोग किया गया था तथा सीमा निगरानी हेतु ड्रोन का भी प्रयोग किया जाता है

कृषि क्षेत्र में ड्रोन की उपयोगिता

विश्व के बड़े-बड़े देशों में आज किसान ड्रोन के माध्यम से फसलों की निगरानी से लेकर दवा का छिड़काव कर रहे हैं. इस प्रकार कहा जा सकता है कि कृषि के क्षेत्र में भी ड्रोन ने क्रांतिकारी उपयोग आरंभ किया है

असामाजिक तत्वों को नियंत्रण करने में ड्रोन का उपयोग

वर्तमान समय में ड्रोन का उपयोग कानून एवं व्यवस्था को बनाए रखने के लिए भी सबसे अधिक हो रहा है. आंतरिक सुरक्षा और कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए देश के बड़े-बड़े महानगरों में छतों की तलाशी और बड़े जासूसों पर नजर रखने के लिए ड्रोन का प्रयोग हो रहा है और सुरक्षा के क्षेत्र में इसने विशेष भूमिका निभाई है

सामानों की होम डिलीवरी में ड्रोन का उपयोग

वर्तमान में गूगल और अमेजॉन जैसी बड़ी कंपनियां ड्रोन के द्वारा सामानों की होम डिलीवरी करने की तैयारी में है. ऐमेज़ॉन ने भारत में ड्रोन विमानों की तैनाती के लिए पैटर्न भी फाइनल कर दिया है. अभी तक यह सुविधा केवल बड़े-बड़े देशों जैसे कि अमेरिका, दुबई आदि में ही देखने को मिलती थी लेकिन अब यह जल्द ही भारत में भी आने वाली है

रेलवे क्षेत्र में ड्रोन का लाभ

भारतीय रेलवे ने प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग और ट्रैक मेंटेनेंस की निगरानी के लिए ड्रोन कैमरा का प्रयोग करना शुरू कर दिया है. साथ ही राहत और बचाव अभियान में भी रेलवे द्वारा ड्रोन कैमरा तैनात किए गए हैं. रेलवे के मुख्यालय जबलपुर में सबसे पहले ड्रोन कैमरे का प्रयोग शुरू किया गया था

स्वच्छ भारत अभियान में ड्रोन का फायदा

स्वच्छ भारत अभियान में ड्रोन तकनीक का उपयोग करके स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने के लिए भी प्रयास किया गया है. तेलंगाना, हरियाणा आदि में नदियों और तालाबों के पास खुले में शौच करने वालों पर नजर रखने के लिए ड्रोन कैमरे का इस्तेमाल किया जा रहा है

सैन्य क्षेत्र में ड्रोन का महत्व

दोस्तों ड्रोन तकनीक का सबसे व्यापक प्रयोग सैन्य क्षेत्रों में ही किया जाता है. अमेरिकी सेना पाकिस्तान के सीमित क्षेत्रों में आतंकवादियों की खोज के लिए ड्रोन का प्रयोग कर रही है जिससे कि उन्हें सफलता भी हासिल हुई है

ड्रोन तकनीक के चलते अमेरिकी सेना ने कई आतंकवादियों को रंगे हाथ पकड़ा भी है. इसीलिए यह अमेरिका ही नहीं बल्कि भारत जैसे देश के लिए भी काफी फायदेमंद साबित होगी जहां की चौबीसों घंटे आतंकवादियों का खौफ बना रहता है. मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं वर्तमान में भारतीय सेना के पास 600 से अधिक ड्रोन है

अन्य सभी क्षेत्रों में ड्रोन का लाभ

ड्रोन के यही नहीं बल्कि और भी विभिन्न फायदे हैं. जैसे कि ड्रोन को ट्रैफिक नियंत्रण करने के लिए भी प्रयोग किया जा रहा है. साथ ही सर्वेक्षण, प्रोफेशनल फोटोग्राफी और हवाई मीटिंग में भी ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है

किसी भी चीज का डॉक्यूमेंटेशन करते समय लेजर स्कैनिंग में रेजोल्यूशन की सीमा को दूर करने में भी ड्रोन का उपयोग किया जा रहा है. यही नहीं आजकल ड्रोन का प्रयोग शूटिंग और वीडियो रिकॉर्डिंग करने के लिए भी किया जा रहा है

ड्रोन के प्रयोग से हानि या नुकसान

दोस्तों हम सभी जानते हैं कि जो तकनीक सही साबित होती है उसे गलत साबित होने में समय नहीं लगता. ऐसे ही ड्रोन तकनीक का भी गलत प्रयोग किया जा सकता है इसके निम्नलिखित नुकसान है –

  • ड्रोन एक प्रकार की मशीन है. जिस कारण अन्य मशीनों की तरह इसे भी आसानी से Hack किया जा सकता है. इसके नियंत्रण प्रणाली पर हमला करके Hacker’s इसे हानि पहुंचा सकते हैं. साथ ही गोपनीय जानकारियां भी हासिल कर सकते हैं.
  • ड्रोन उड़ान भरते समय पक्षियों को भी चोट पहुंचा सकते हैं.
  • ड्रोन को यदि असामाजिक तत्वों से जोड़ा जाए तो इसके माध्यम से न सिर्फ जासूसी बल्कि आवश्यकता पड़ने पर हमला भी किया जा सकता है.
  • अंतरराष्ट्रीय हवाई परिवहन एसोसिएशन ने ड्रोन को वायु क्षेत्र के लिए खतरा माना है तथा इससे जुड़ी सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए व्यापक विचार विमर्श करने को कहा है.
  • अपराध जगत में ड्रोन के माध्यम से बड़ी वारदात हो सकती है. जैसे कि किसी सुरक्षित इलाके में विस्फोट गिराना, जेल के अंदर अवैध सामान पहुंचाना, जैविक हथियार से हमला और भी बहुत कुछ

क्या भारत में ड्रोन उड़ाना वैध है या नहीं

ड्रोन क्या होता है इसे जानने के बाद मन में यह प्रश्न जरूर उठ रहा है कि क्या भारत में ड्रोन उड़ाना वैध है या नहीं, तो दोस्तों मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं भारत में किसी भी सार्वजनिक स्थान पर ड्रोन उड़ाना वैध नहीं है

बेशक आप अपने घर में ड्रोन उड़ा सकते हैं लेकिन किसी भी सार्वजनिक स्थान में ड्रोन उड़ाने के लिए आपको सरकारी परमिशन की आवश्यकता होगी. भारत सरकार ने ड्रोन को अवैध, नागरिकों की सुरक्षा के लिए किया है क्योंकि इसका गलत प्रयोग भी किया जा सकता है

दोस्तों कहा जा सकता है कि वर्तमान में ड्रोन तकनीक अपने विकास के एक नए दौर के चरम पर है तथा यह जीवन के विभिन्न क्षेत्र में क्रांतिकारी भूमिका निभाने वाली है

लेकिन साथ ही इसकी जांच सुनिश्चित करना काफी महत्वपूर्ण है कि इसका प्रयोग मानव जाति की सहायता एवं उपकार हेतु किया जाए ना कि असामाजिक तत्वों द्वारा ड्रोन का प्रयोग कर मानवीय हितों को क्षति पहुंचाई जाए

Read More Post – 

Conclusion

दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आपने इस पूरी पोस्ट को पढ़ा होगा और इसमें जाना होगा कि ड्रोन क्या होता है – What is drone in Hindi और ड्रोन के फायदे और नुकसान क्या है?

इस पूरी जानकारी को देने के बाद मैं आपसे एक प्रश्न पूछना चाहता हूँ. जिसका उत्तर आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर दीजिएगा तो प्रश्न यह है कि क्या भारतीय सरकार को ड्रोन आम लोगों के लिए वैध करना चाहिए या नहीं? अपने विचारों को कमेंट बॉक्स में जरूर बताइएगा

अगर आपको यह पोस्ट ड्रोन क्या होता है – What is drone in Hindi अच्छी लगी तो इसे सोशल मीडिया पर जरूर शेयर कीजिएगा ताकि और लोग भी ड्रोन के बारे में हिंदी में जान सके

धन्यवाद!

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी ?

Average rating / 5. Vote count:

अब तक कोई वोट नहीं, इस पोस्ट को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें

MDS Thanks 😃

पोस्ट अच्छी लगी तो सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें

हमें खेद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी नहीं थी !

हमें बताएं कि हम इस पोस्ट को कैसे बेहतर बना सकते हैं ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Please allow ads on our site !

Looks like you're using an ad blocker. We rely on advertising to help fund our site.