Hindi Essay

लोहड़ी पर निबंध हिंदी में

क्या आप लोहड़ी पर निबंध (Lohri Essay in Hindi) जानना चाहते हैं तो मैं आपका दोस्त हाजिर हूँ और आपको सिखाऊंगा कि आप कैसे लोहड़ी पर निबंध लिख सकते हैं. तो आइए सबसे पहले कुछ जरूरी पॉइंट पढ़ते है

त्यौहार का नामलोहड़ी
मनाया जाता है13 जनवरी को
प्रमुख पर्व हैपंजाबियों का
पूर्व नाम थातिलोड़ी

लोहड़ी पर निबंध – Essay on Lohri in Hindi

लोहड़ी पर निबंध

“सभी जनों को खूब बधाई
लोहड़ी आयी लोहड़ी आयी”

हमारे देश भारत को त्यौहारों का देश कहा जाता है क्योंकि भारत देश में विभिन्न प्रकार के पर्व मनाये जाते है इसी प्रकार लोहड़ी का पर्व भी भारत देश में मनाया जाने वाला प्रमुख त्यौहार है

इस पर्व को खासतौर से पंजाबी लोग मनाते हैं। लोहड़ी का त्यौहार बहुत ही धूम-धाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है

यह पूरे उत्तर भारत विशेषकर पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और जम्मू में मनाया जाता है

यह पंजाब में कटाई के मौसम और सर्दियों के मौसम के अंत का प्रतीक है. पंजाबियों के लिए लोहड़ी के अगले दिन से उनका नया साल शुरु हो जाता है

इस समय यहा पर नई फसल की पूजा की जाती है. इसीलिए पंजाब मे लोहड़ी का त्यौहार उत्साह के साथ मनाया जाता है

लोहड़ी उत्सव प्रत्येक वर्ष मकर सक्रान्ति से एक दिन पहले मनाया जाता है. इस त्यौहार का मुख्य आकर्षण सर्दियों के भोजन जैसे सरसों का साग, मक्के की रोटी, तिल, रेवड़ी, गजक आदि होते हैं

इस दिन बाजार सजे रहते हैं और आसमानों में पतंगों की बहार रहती है. नव ब्याही जोड़ी या घर में जन्मे बच्चे को आशीर्वाद और प्यार देने रिश्तेदार घर आते हैं

“जीवन मूंगफली व गुड़ की मिठास से भर जाता
लोहड़ी का त्यौहार ढेरों खुशियां संग लाता”

लोहड़ी को दुल्ला भट्टी की कहानी से जोड़ा जाता है. लोहड़ी के सभी गानों का केंद्र बिंदु दुल्ला भट्टी ही है. दुल्ला भट्टी अकबर के समय में पंजाब में रहता था

उस समय लड़कियों को गुलामी के लिए बल पूर्वक अमीर लोगों को बेचा जाता था जिसे दुल्ला भट्टी ने योजना बनाकर उन लड़कियों को न कि मुक्त ही करवाया बल्कि उनकी शादी भी हिन्दू लड़को से करवाई और उनकी शादी की सभी व्यवस्था भी करवाई. इन्ही सब ऐतिहासिक कारणो के चलते पंजाब लोहड़ी का त्यौहार इतने उत्साह के साथ मनाता है

लोहड़ी की शाम सभी लोग मिलकर लकड़ियों का अलाव जलाते हैं और उसकी पूजा करते हैं. सभी पवित्र अग्नि के चारों ओर इकट्ठा होकर लोकप्रिय लोहड़ी के गीत गाते हैं व नाचते हैं

लोग इस अलाव में मिठाई, रेवड़ी, गुड़, मूंगफली और पॉपकॉर्न अर्पित करते हैं व जश्न मनाते हैं

इस प्रसाद को आपस में बांटते है व एक दूसरे को शुभकामनाएं देते हैं. लोग आपस में मिलकर लोहड़ी के त्यौहार को ख़ुशी व आनंद के साथ मनाते हैं

“सर्दी खत्म होने को आई सब ने मिलकर लोहड़ी मनाई”

Read More –

संक्षेप में 

लोहड़ी पर निबंध आपके लिए कितना उपयोगी था कमेंट बॉक्स में हमें जरूर बताएं. इसी तरह के विभिन्न निबंध आपको MDS BLOG पर जानने को मिलेंगे जिनसे कि आप अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं

क्या इस निबंध में सुधार करने की आवश्यकता है अपने विचार हमारे साथ जरूर रखें ताकि हम एक बेहतर आर्टिकल तैयार कर सकें जिससे की सभी की मदद हो सके !

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी ?

Average rating / 5. Vote count:

अब तक कोई वोट नहीं, इस पोस्ट को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें

MDS Thanks 😃

पोस्ट अच्छी लगी तो सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें

हमें खेद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी नहीं थी !

हमें बताएं कि हम इस पोस्ट को कैसे बेहतर बना सकते हैं ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Please allow ads on our site !

Looks like you're using an ad blocker. We rely on advertising to help fund our site.