Informative

mPIN क्या होता है और कैसे बनाएं

mPIN kya hai : दोस्तों आज से कुछ सालों पहले यदि हमें किसी व्यक्ति को पैसे भेजने होते थे तो हम बैंक की एक लंबी सी लाइन में खड़े रहते थे और इंतजार करते रहते थे कि कब हमारी बारी आएगी और कब हम एक फॉर्म भर कर पैसे ट्रांसफर कर पाएंगे

आपको याद हो या ना हो, लेकिन मुझे पता है वह बहुत कठिनाई वाला दौर था. लेकिन तकनीकी विकास के साथ आज हमारा देश भारत डिजिटल होता जा रहा है. आज हमें किसी को पैसे भेजने के लिए एक लंबी लाइन में खड़ा नहीं होना पड़ता बल्कि हमारा स्मार्टफोन ही काफी है

आधुनिक दौर में हम अपने स्मार्टफोन के माध्यम से ही किसी को पैसे भेज सकते हैं यह संभव हुआ है केवल टेक्नोलॉजी के विकास से, दोस्त आज इस आर्टिकल के माध्यम से मैं आपको बताऊंगा एमपिन क्या होता है (mPIN kya hota hai), इसका फुल फॉर्म क्या होता है, इसके क्या फायदे है?

मुझे यकीन है यदि आप इस पोस्ट को पढ़ रहे हैं तो आप किसी न किसी UPI App को जरूर यूज़ करते होंगे जहां पर कि आपको mPIN का ऑप्शन दिखा होगा. आज mPIN kya hai से संबंधित संपूर्ण जानकारी आपको इस लेख में बताई गई है. तो आइए जानते हैं

mPIN क्या होता है (mPIN kya hai)

mPIN kya hai

mPIN का फुल फॉर्म Mobile Banking Personal Identification Pin है. अगर सरल रूप में समझा जाये तो mPIN एक प्रकार का pin या पासकोड है जिसका इस्तेमाल मोबाइल बैंकिंग यानी मोबाइल के माध्यम से पैसों का लेनदेन करने के लिए किया जाता है. mPIN 4 से 6 नंबर तक का एक पासकोड होता है

जिस तरह हमारे क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड को इस्तेमाल करने के लिए या उनके जरिये पैसों का लेनदेन करने के लिए हमें एक ATM Pin या पासकोड डालना पड़ता है और बिना इस पिन के कोई भी व्यक्ति हमारे कार्ड से पैसों का लेनदेन नहीं कर सकता है

ठीक उसी तरह mPIN भी एक पिन होता है जिसका इस्तेमाल हम मोबाइल बैंकिंग के द्वारा पैसों का लेनदेन करने के लिए करते हैं. यह हमारे बैंक एकाउंट, हमारे पैसों को और हमारे लेनदेन को सुरक्षा प्रदान करता है. जिससे बैंक को यह पता चलता है कि यह लेनदेन हमारे ही द्वारा किया जा रहा है

mPIN full form in Hindi

mPIN का full form – Mobile Banking Personal Identification Number है. हिंदी में mPIN का फुल फॉर्म ‘मोबाइल बैंकिंग व्यक्तिगत पहचान संख्या‘ होता है

mPIN क्या कार्य करता है?

जैसा कि हमने बताया कि mPIN भी ATM Pin की ही तरह होता है और इसका कार्य भी उसी की तरह होता है. यह पिन हमारी पहचान की पुष्टि करता है और बैंक को यह बताता है कि यह लेनदेन हमारे ही द्वारा किया जा रहा है. चलिए इसे और आसान भाषा में समझाने की कोशिश करता हूं

जब आप ATM मशीन में अपना डेबिट कार्ड Enter करते हैं तो वह आपसे आपका पिन डालने को कहता है. यह पिन या तो बैंक द्वारा आपको दिया जाता है या आपके द्वारा बनाया गया होता है और यह पिन सिर्फ आपको ही मालूम होता है और आपका बैंक आपको यह पिन गोपनीय रखने और किसी से शेयर न करने को कहता है

जब आप अपना पिन ATM में Enter करते हैं तो इससे बैंक को यह पता चलता है कि आप स्वयं ही अपने कार्ड द्वारा लेन-देन कर रहे हैं और तब आपका ट्रांसेक्शन या लेनदेन सफल होता है और आप पैसे निकाल पाते हैं

यदि आप यह पिन नहीं डालते हैं तो यह लेन-देन संभव नहीं हो पाता है. इस प्रकार यह पिन आपके बैंक को आपकी पहचान कराता है और साथ-साथ आपको सुरक्षा प्रदान भी करता है. यदि आपका क्रेडिट या डेबिट कार्ड कहीं खो या चोरी हो जाता है तब भी बिना पिन Enter किये कोई भी व्यक्ति आपके बैंक एकाउंट से लेन-देन नहीं कर सकता है औऱ आपका पैसा सुरक्षित रहता है

ठीक इसी प्रकार से mPIN भी कार्य करता है. जब आप मोबाइल बैंकिंग के जरिये कोई भी लेन-देन करते हैं तो आपको mPIN डालने को कहा जाता है जो आपके बैंक को यह बताता है कि यह लेन-देन आपके द्वारा ही किया जा रहा है और जब आप mPIN डालते हैं तो आपका Transactions सफल हो जाता है. इस प्रकार mPIN आपके एकाउंट और आपके पैसे दोनों को सुरक्षित रखता है

mPIN का उपयोग कहाँ किया जाता है?

mPIN का इस्तेमाल तरह-तरह के Online transactions करने के लिए किया जा सकता है जो निम्नलिखित हैं

Mobile Banking : मोबाइल बैंकिंग के द्वारा ट्रांसेक्शन के लिए mPIN का उपयोग किया जाता है
UPI Apps : UPI Apps के जरिये लेन-देन करने के लिए भी mPIN का इस्तेमाल किया जा सकता है
IVR : IVR यानी Ineractive Voice Response के जरिये ट्रांसेक्शन करने हेतु भी mPIN उपयोगी होता है
SMS Banking : mPIN का उपयोग sms बैंकिंग के जरिये ट्रांसेक्शन करने में भी किया जा सकता है
USSD Banking : USSD बैंकिंग में भी लेनदेन के लिए mPIN का इस्तेमाल किया जा सकता है

mPIN के क्या फायदे हैं?

mPIN के कई फायदे हैं जो निम्नलिखित हैं

  • सुरक्षा : mPIN आपके लेनदेन और आपके बैंक एकाउंट को सुरक्षा प्रदान करता है. यदि आपका मोबाइल किसी अन्य व्यक्ति के हाथ लग जाता है या चोरी हो जाता है तो भी वह व्यक्ति आपके एकाउंट से बिना mPIN के ट्रांसेक्शन नहीं कर सकता है और इस प्रकार आपके पैसे सुरक्षित रहते हैं
  • आसान ट्रांसेक्शन : कई बार ट्रांसेक्शन करने के लिए यूजर को अपना एकाउंट नंबर, बैंक का IFSC code वगैरह जानकारियां डालने की जरूरत पड़ती थी परंतु अब आप इसकी बजाय mPIN का इस्तेमाल कर सकते हैं और बिना इन सब जानकारियों को याद रखे केवल mPIN के जरिये आसानी से और जल्दी कोई भी ट्रांसेक्शन कर सकते हैं
  • आप अपना mPIN अपनी सुविधानुसार भी चुन सकते हैं, आप स्वयं अपने लिए mPIN निर्धारित कर सकते हैं
  • mPIN एक 4 से 6 अंको का कोड होता है जिसे याद रखना सुविधाजनक और आसान होता है

mPIN कैसे जनरेट करें?

जैसा कि हम जान चुके है कि mPIN का संबंध नेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग सुविधा से है. mPIN बनाने या जेनेरेट करने के लिए अपनाए जाने वाले स्टेप्स अलग-अलग बैंकों के लिए अलग-अलग हो सकते हैं. मतलब अलग-अलग बैंकों के लिए mPIN बनाने की प्रक्रिया अलग हो सकती है. वैसे सामान्य तौर पर, आप नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके अपने ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के लिए mPIN जेनेरेट कर सकते हैं

  • सबसे पहले आप अपने बैंक के App में जाकर ‘Generate mPIN’ के ऑप्शन पर क्लिक करें
  • जहां आपसे आपके बैंक खाते से संबंधित डेबिट कार्ड की जानकारी दर्ज करने को कहा जाएगा, वहां पर वह जानकारी दर्ज करें
  • अब आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर यानी Registered mobile number एक OTP आएगा, उसे दर्ज कर mPIN generation की प्रक्रिया को प्रमाणित करें
  • अपनी इच्छा या सुविधानुसार अपने लिए mPIN दर्ज करें और ‘submit’ बटन पर क्लिक करें

और इस प्रकार आपका mPIN सफलतापूर्वक Generate हो चुका होगा और आपका अपने mPIN के जरिये सुरक्षित ट्रांसेक्शन करने का फायदा उठा पाएंगे

mPIN कैसे बदलें या नया mPIN कैसे बनाएं?

यदि आप चाहें तो अपना mPIN बदल भी सकते हैं. ऐसा करने के लिए आपको बस अपने बैंकिंग app में login करना होगा. वहाँ आपको अपना mPIN बदलने का ऑप्शन दिखेगा आपको उस पर क्लिक करना है. उसके बाद आपसे आपका पुराना mPIN पूछा जाएगा, आपको अपना पुराना mPIN डालना होगा और उसके बाद आपके पास अपने लिए नया mPIN बनाने का ऑप्शन होगा और इस प्रकार से आप अपने लिए एक नया mPIN generate कर सकते हैं

क्या करें यदि आप अपना mPIN भूल जाएं?

यदि आप अपना mPIN भूल जाते हैं तो आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं है. आप आपने बैंक में पता कर सकते हैं कि आप किस तरह से अपने लिए एक नया mPIN बना सकते हैं. आपको बस अपने बैंक द्वारा बताई गयी प्रक्रिया को फॉलो करना होगा और आसानी से आप अपने लिए नया mPIN बना सकेंगे

FAQ’s – अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

mPIN का फुल फॉर्म क्या होता है?

mPIN का फुल फॉर्म Mobile Banking Personal Identification Pin होता है

क्या बिना mPIN बनाये ऑनलाइन पैसे भेज सकते हैं?

बिना mPIN बनाये आप किसी को ऑनलाइन पैसे नहीं भेज पाएंगे

mPIN नंबर क्या है?

mPIN नंबर एक प्रकार का पासकोड है जो 4 से 6 नंबर तक का होता है

Read More :

Conclusion

आशा है आपको यह आर्टिकल एमपिन क्या होता है (mPIN kya hai) अच्छा लगा होगा और आपने आज एमपिन के बारे में सही से समझा होगा. अगर इस जानकारी के बारे में आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें

इसी तरह की विभिन्न उपयोगी जानकारियां MDS BLOG पर प्रकाशित होती रहती है इसीलिए आज ही MDS के साथ जुड़े. अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिएगा और उन्हें भी mPIN के बारे में एक सटीक और सही जानकारी दीजिए. आपका बहुत-बहुत धन्यवाद !

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी ?

Average rating / 5. Vote count:

अब तक कोई वोट नहीं, इस पोस्ट को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें

MDS Thanks 😃

पोस्ट अच्छी लगी तो सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें

हमें खेद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी नहीं थी !

हमें बताएं कि हम इस पोस्ट को कैसे बेहतर बना सकते हैं ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Please allow ads on our site !

Looks like you're using an ad blocker. We rely on advertising to help fund our site.