Educational

ऑक्सीजन क्या है इसके गुण, उपयोग और महत्व

O2 kya hai : दोस्तों हम सभी जानते हैं ऑक्सीजन हमारे लिए कितनी उपयोगी है. ऑक्सीजन के बिना हम जीवित नहीं रह सकते है. क्या आप भी जानना चाहते हैं ऑक्सीजन गैस क्या है तो यह पोस्ट आपके लिए काफी उपयोगी है

नमस्कार MDS BLOG में आपका हार्दिक स्वागत है. आज मैं आपको Information about Oxygen in Hindi में दूंगा. तो आइए जानते हैं ऑक्सीजन या O2 क्या है?

ऑक्सीजन (O2) क्या होता है – What is Oxygen in Hindi

Oxygen in Hindi

ऑक्सीजन (O) आवर्त सारणी के समूह 16 का एक अधातु रासायनिक तत्व है. ऑक्सीजन एक रंगहीन, गंधहीन, स्वादहीन गैस है जो जीवित जीवों के लिए आवश्यक है इसे जानवरों द्वारा ग्रहण किया जाता है और कार्बन डाइऑक्साइड में बदल दिया जाता है

बदले में, पौधे कार्बन के स्रोत के रूप में कार्बन डाइऑक्साइड का उपयोग करते हैं और ऑक्सीजन को वायुमंडल में वापस कर देते हैं. ऑक्सीजन व्यावहारिक रूप से किसी भी अन्य तत्व के साथ प्रतिक्रिया द्वारा यौगिक बनाता है. इसका सबसे महत्वपूर्ण यौगिक पानी है

ऑक्सीजन का इतिहास

ऑक्सीजन की खोज 1772 के आस पास स्वीडिश रसायनज्ञ Carl Wilhelm Scheele ने की थी. जिन्होंने इसे पोटेशियम नाइट्रेट, मर्क्यूरिक ऑक्साइड और कई अन्य पदार्थों को गर्म करके प्राप्त किया था

एक अंग्रेजी रसायनज्ञ, Joseph Priestley ने 1774 में मर्क्यूरिक ऑक्साइड के थर्मल अपघटन द्वारा स्वतंत्र रूप से ऑक्सीजन की खोज की और उसी वर्ष अपने निष्कर्ष प्रकाशित किए. 1775-80 में, फ्रांसीसी रसायनज्ञ Antoine-Laurent Lavoisier ने श्वसन के साथ-साथ दहन में ऑक्सीजन की भूमिका की व्याख्या की

ऑक्सीजन के गुण कौन-कौन से है ?

  • ऑक्सीजन पृथ्वी की पपड़ी यानी क्रस्ट में सबसे प्रचुर मात्रा में पाया जाने वाला तत्व है
  • वायुमण्डल में आयतन के अनुसार ऑक्सीजन का अनुपात 21% और समुद्री जल में भार के अनुसार 89% है
  • शुद्ध ऑक्सीजन हवा से 1.1 गुना भारी होती है
  • ऑक्सीजन या O2 रंग, स्वाद या गंध के बिना पाई जाने वाली गैस है
  • ऑक्सीजन 183 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर उबलता है
  • तरल रूप में ऑक्सीजन का रंग हल्का नीला होता है और ठोस रूप में यह तत्व गहरे नीले रंग के क्रिस्टल बनाता है
  • -218.7 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर ऑक्सीजन पिघलती है
  • गर्म करने पर, ऑक्सीजन विभिन्न सरल पदार्थों (धातुओं और गैर-धातुओं) के साथ प्रतिक्रिया में प्रवेश करती है, जिसके परिणामस्वरूप ऑक्साइड बनते हैं
  • ऑक्सीजन के साथ रासायनिक तत्वों की अभिक्रिया को ऑक्सीकरण प्रतिक्रिया कहा जाता है
  • श्वसन के दौरान, जानवर और कुछ बैक्टीरिया वातावरण से ऑक्सीजन लेते हैं और कार्बन डाइऑक्साइड छोड़ते हैं. जबकि प्रकाश संश्लेषण द्वारा, हरे पौधे सूर्य के प्रकाश की उपस्थिति में कार्बन डाइऑक्साइड को ग्रहण हैं और मुक्त ऑक्सीजन विकसित करते हैं

मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं वायुमंडल में लगभग सभी मुक्त ऑक्सीजन प्रकाश संश्लेषण के कारण होती है. मात्रा के अनुसार ऑक्सीजन के लगभग 3 भाग ताजे पानी के 100 भागों में 20 °C (68 °F) पर घुल जाते हैं. जो समुद्री जल में थोड़ा कम होता है. मछली और अन्य समुद्री जीवन के श्वसन के लिए घुलित ऑक्सीजन आवश्यक है. प्राकृतिक ऑक्सीजन तीन स्थिर समस्थानिकों का मिश्रण है जो निम्न है

ऑक्सीजन-16(99.759%)
ऑक्सीजन-17(0.037%)
ऑक्सीजन-18(0.204 %)

Oxygen के Allotropes

Allotrope एक ही तत्व के विभिन्न रूप हैं जिनके अलग-अलग गुण हैं. उदाहरण के लिए, कार्बन के दो सामान्य अपरूप हैं. उनमें से एक सबसे नरम प्राकृतिक पदार्थों में से एक है और इसका उपयोग पेंसिल (ग्रेफाइट) में किया जाता है. दूसरा सबसे कठोर प्राकृतिक पदार्थों में से एक है और इसे हीरा के रूप में जाना जाता है

ऑक्सीजन एक बहुत ही प्रतिक्रियाशील तत्व है और यह एकल परमाणु रूप यानी Singular atom form में मौजूद नहीं है. ऑक्सीजन लगभग किसी भी अन्य तत्व से बंध जाता है और यदि आसपास कोई अन्य तत्व नहीं है. तो यह दूसरे ऑक्सीजन परमाणु से बंध जाता है. इससे हमें सांस लेने वाली ऑक्सीजन का Allotrope मिलता है जो कि O2 है

ऑक्सीजन के दो अपरूपी रूप यानी Allotropic forms होते हैं. द्विपरमाणुक (O2) और त्रिपरमाण्विक (O3, ओजोन)

Dioxygen (O2)

O2 मौजूद ऑक्सीजन का सबसे आम Allotrope है. यह एक अदृश्य गैस है और पृथ्वी के वायुमंडल में पाई जाने वाली अन्य गैसों से 20% अधिक है. दो ऑक्सीजन परमाणु चार इलेक्ट्रॉनों को साझा करते हैं और प्रत्येक में इलेक्ट्रॉनों के दो एकाकी जोड़े होते हैं

Ozone (O3)

ओजोन एक अणु है जिसमें तीन बंधुआ ऑक्सीजन परमाणु होते हैं. यह रंग में थोड़ा नीला होता है. इसका प्राकृतिक या प्रदूषक होना वातावरण में इसकी स्थिति पर निर्भर करता है. समताप मंडल पृथ्वी के वायुमंडल की एक परत है, जो पृथ्वी की सतह से लगभग 10 किलोमीटर से 50 किलोमीटर की दूरी पर है

समताप मंडल में ओजोन परत होती है. ऊपरी वायुमंडल में O2 सूर्य से पराबैंगनी प्रकाश को अवशोषित करता है. जो दो ऑक्सीजन परमाणुओं के बीच के दोहरे बंधन को तोड़ता है. चूंकि ऑक्सीजन एक प्रतिक्रियाशील तत्व है यह O2 के साथ प्रतिक्रिया करके O3 बनाता है जो ओजोन है. ओजोन के दो अणु बनाने के लिए तीन O2 अणुओं की आवश्यकता होती है

पराबैंगनी प्रकाश के अवशोषण के कारण इस वायुमंडलीय परत का तापमान अधिक हो जाता है. जो पृथ्वी के पूरे तापमान का एक कारक है. ओजोन परत हमें अत्यधिक पराबैंगनी प्रकाश के हानिकारक प्रभावों से बचाती है

ओजोन वायुमंडल की उस परत में भी मौजूद हो सकती है जहां हम रहते हैं, जिसे क्षोभमंडल कहा जाता है. इस परत में ओजोन को प्रदूषक माना जाता है और इसे ”ground level ozone” कहा जाता है

यह सूर्य के प्रकाश के साथ वाष्पशील कार्बनिक यौगिकों (VOC) की प्रतिक्रिया से उत्पन्न होता है. VOCs जीवाश्म ईंधन को जलाने से उत्पन्न होते हैं और इसमें विभिन्न नाइट्रोजन ऑक्साइड शामिल होते हैं

ऑक्सीजन के उपयोग

  • सजीव प्राणियों के लिए ऑक्सीजन बहुत महत्वपूर्ण है. मनुष्य को भोजन से ऊर्जा प्राप्त करने के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है
  • लोहे की चादरों को काटने अथवा मशीन के टूटे भागों को जोड़ने के लिए ऑक्सीजन तथा दहनशील गैस को ब्लो पाइप में जलाया जाता है
  • ऑक्सीजन का उपयोग कांच और पत्थर के उत्पादों के उत्पादन, निर्माण और खनन में किया जाता है
  • रोगी के चारों ओर ऑक्सीजन का आंशिक दबाव बढ़ाने के लिए उच्च दबाव के मामले में विशेष ऑक्सीजन कक्षों का उपयोग किया जाता है
  • चिकित्सा क्षेत्र में आक्सीजन कई उपयोगी है. यह उपचार रोगी के रक्त में ऑक्सीजन के स्तर को बढ़ाता है
  • ऑक्सीजन रोगग्रस्त फेफड़ों में रक्त के प्रवाह के प्रतिरोध को कम करता है
  • ऑक्सीजन असाध्य रोगियों के साँस लेने के लिए भी उपयोगी है
  • ऑक्सीजन से सिरका, वार्निश इत्यादि बनाया जा सकता है
  • ऑक्सीजन के प्राथमिक अनुप्रयोगों में अन्य धातुओं के साथ-साथ स्टील का पिघलना, शोधन और निर्माण शामिल है

ऑक्सीजन का महत्व क्या है

सभी सजीवों को श्वसन के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है. इसकी आवश्यकता ईंधनों के दहन में भी होती है. ऑक्सीजन की कमी से दम घुटता है और श्वसन में कठिनाई होती है

मानव अपनी ऊर्जा की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए बहुत अधिक मात्रा में ईंधन जलाता है. ऑक्सीजन, ईंधनों के जलाने में सहायता करती है और कार्बन डाइऑक्साइड तथा जलवाष्प मुख्य उत्पादों के रूप में बनते हैं

ऑक्सीजन जल में घुलनशील है इससे जल को ताजा रखने में सहायता मिलती है और यह जलीय जंतुओं के श्वसन के स्रोत का कार्य करती है. श्वसन तथा ईंधनों के दहन के प्रक्रम में कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) तथा जल (H2O) उत्पन्न होते हैं

ये उत्पाद वायुमंडल में चले जाते हैं. जब हरे पौधे कार्बन डाइऑक्साइड तथा जल से सूर्य के प्रकाश की उपस्थिति में भोजन (कार्बोहाइड्रेट के रूप में) बनाते हैं तब ऑक्सीजन उत्पन्न होती है. यह प्रक्रम प्रकाश-संश्लेषण (Photosynthesis) कहलाता है. इससे मुक्त ऑक्सीजन वायुमण्डल में चली जाती है

पौधे भी ऑक्सीजन का उपयोग करते हैं परंतु वे अधिक ऑक्सीजन उत्पन्न करते हैं. ऑक्सीजन का उपयोग महासागरों में तलछटों द्वारा भी किया जाता है. ये प्रक्रम प्रकृति में सतत चल रहे हैं परिणामस्वरूप, वायुमंडल में ऑक्सीजन तथा कार्बन डाइऑक्साइड की सांद्रता लगभग स्थिर रहती है तथा इसकी सांद्रता का संतुलन बना रहता है

FAQ’s – ऑक्सीजन से संबंधित पूछे जाने वाले सवाल

ऑक्सीजन का PH मान क्या है ?

ऑक्सीजन का PH मान 7 होता है

क्या ऑक्सीजन के बिना जीवित रहना संभव है ?

जीवित प्राणियों की श्वसन प्रक्रिया के लिए ऑक्सीजन आवश्यक है इसलिए ऑक्सीजन के बिना जीवित रहना संभव नहीं है

ऑक्सीजन कितने डिग्री तापमान पर उबलता है ?

ऑक्सीजन 183 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर उबलता है

ऑक्सीजन का रासायनिक सूत्र क्या है ?

ऑक्सीजन का रासायनिक सूत्र O2 है

संक्षेप में

उम्मीद है आपने इस पोस्ट को पूरा पढ़ा होगा और जाना होगा ऑक्सीजन (O2) क्या होती है – What is Oxygen in Hindi अगर आपको यह जानकारी उपयोगी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिएगा

अगर आप नई नई जानकारियों को जानना चाहते हैं तो MDS BLOG के साथ जरूर जुड़िए जहां की आपको हर तरह की नई-नई जानकारियां दी जाती है. MDS BLOG पर यह पोस्ट पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद !

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी ?

Average rating / 5. Vote count:

अब तक कोई वोट नहीं, इस पोस्ट को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें

MDS Thanks 😃

पोस्ट अच्छी लगी तो सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें

हमें खेद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी नहीं थी !

हमें बताएं कि हम इस पोस्ट को कैसे बेहतर बना सकते हैं ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Please allow ads on our site !

Looks like you're using an ad blocker. We rely on advertising to help fund our site.