Educational

प्रकाश संश्लेषण किसे कहते हैं इसकी परिभाषा, प्रकार, सूत्र

Prakash Sanshleshan Kya Hai : जब आपको भूख लगती है तो आप अपने Kitchen या Fridge में रखा खाना खाके अपनी भूख मिटाते हैं. लेकिन क्या कभी आपके मन में यह प्रश्न उठा है पेड़-पौधे जोकि सजीव है यह भूख लगने पर क्या करते हैं?

दोस्तों नमस्कार प्रकाश संश्लेषण किसे कहते हैं, इसकी परिभाषा क्या है, यह कितने प्रकार का होता है और इसका सूत्र क्या है? यह सभी जानकारी आज आपको इस पोस्ट में पढ़ने को मिलेगी

प्रकाश संश्लेषण क्या है – Prakash Sanshleshan Kise kahate hain

Prakash Sanshleshan Kya Haiपौधों को उगने के लिए धूप, पानी और घर यानी मिट्टी की आवश्यकता होती है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि उन्हें अपना भोजन कहाँ से मिलता है? पौधे अपना भोजन स्वयं एक प्रक्रिया द्वारा बनाते हैं. जिसे हम प्रकाश संश्लेषण यानी Photosynthesis कहते हैं. आइए इसे परिभाषा अनुसार समझते हैं

प्रकाश संश्लेषण की परिभाषा – Prakash Sanshleshan ki Paribhasha

प्रकाश की उपस्थिति में पौधों द्वारा भोजन यानी ग्लूकोज बनाने के प्रक्रिया को ही प्रकाश संश्लेषण कहते हैं. ग्लूकोज एक प्रकार की Sugar होती है जो पौधों को जीवित रहने के लिए आवश्यक होती है

सभी पौधों, शैवाल और यहां तक ​​कि कुछ सूक्ष्म जीवों द्वारा भी इसका प्रयोग भोजन बनाने के लिए किया जाता है. प्रकाश संश्लेषण के लिए पौधों को तीन चीजों की आवश्यकता होती है – कार्बन डाइऑक्साइड, पानी और सूरज की रोशनी

प्रकाश संश्लेषण कैसे होता है?

पौधों को स्वपोषी कहा जाता है क्योंकि वे प्रकाश से ऊर्जा को संश्लेषित करके अपना भोजन स्वयं बना सकते हैं. बहुत से लोग मानते हैं कि जब वे किसी पौधे को मिट्टी में डालते हैं उसे पानी देते हैं या उसे बाहर धूप में रखते हैं तो वे उसे “खिला” रहे होते हैं

लेकिन इनमें से किसी भी चीज़ को भोजन नहीं माना जाता है. बल्कि, पौधे ग्लूकोज बनाने के लिए धूप, पानी और हवा में मौजूद गैसों का उपयोग करते हैं. हमारी तरह ही, पौधों को भी जीने के लिए गैसों को ग्रहण करने की आवश्यकता होती है. जिस प्रकार हम जीवित रहने के लिए श्वसन द्वारा Oxygen ग्रहण करते हैं उसी प्रकार पौधे भी प्रकाश संश्लेषण के लिए कार्बन डाइऑक्साइड गैस ग्रहण करते हैं और उसका उपयोग करते हैं

पौधों में कार्बन डाइऑक्साइड पौधे की पत्तियों, फूलों, शाखाओं, तनों और जड़ों में छोटे छेदो के माध्यम से प्रवेश करती है. पौधों को अपना भोजन बनाने के लिए पानी की भी आवश्यकता होती है. पर्यावरण के आधार पर पौधे अलग-अलग तरीकों से पानी तक पहुंचते हैं

उदाहरण के लिए – रेगिस्तानी पौधों जैसे Cactus में, तालाब के पौधों की तुलना में कम पानी उपलब्ध होता है. लेकिन हर पौधे में किसी प्रकार का अनुकूलन या विशेष संरचना होती है जिसे पानी इकट्ठा करने के लिए design किया गया होता है. अधिकांश पौधों में जड़ें, पानी को अवशोषित करने के लिए जिम्मेदार होती हैं

प्रकाश संश्लेषण के लिए सबसे महत्वपूर्ण सूर्य का प्रकाश होता है क्योंकि यह Sugar बनाने के लिए ऊर्जा प्रदान करता है. प्रकाश से प्राप्त ऊर्जा एक Chemical reaction का कारण बनती है जो कार्बन डाइऑक्साइड और पानी के अणुओं को तोड़ती है और उन्हें ग्लूकोज और आक्सीजन गैस बनाने के लिए reorganize करती है

ग्लूकोज बनने के बाद, इसे माइटोकॉन्ड्रिया द्वारा ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है. जिसका उपयोग पौधों द्वारा Growth और Repairing के लिए किया जाता है. इस प्रक्रिया के दौरान जो आक्सीजन बनती है वह उन्हीं छोटे छेदो से बाहर निकलती है जिनसे कार्बन डाइऑक्साइड प्रवेश करती है

प्रकाश संश्लेषण का सूत्र – Formula of Photosynthesis

यदि हम प्रकाश-संश्लेषण की प्रक्रिया को एक सूत्र द्वारा प्रदर्शित करते हैं तो यह निम्न प्रकार का होता है

 6CO2 + 6H2O + सूर्य का प्रकाश → C6H12O6 (ग्लूकोज)+ 6O2

प्रकाश संश्लेषण की प्रक्रिया कितने प्रकार की होती है?

प्रकाश संश्लेषण की प्रक्रिया निम्नलिखित दो प्रकार की होती है

  • Oxygenic photosynthesis
  • Anoxygenic photosynthesis

Oxygenic Photosynthesis in Hindi

Oxygenic photosynthesis की प्रक्रिया पौधों, शैवाल और साइनोबैक्टीरिया आदि में अधिकतर होती है. इस प्रक्रिया के दौरान ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए प्रकाश ऊर्जा के जरिये पानी से इलेक्ट्रॉनों को कार्बन-डाई-ऑक्साइड में transfer किया जाता है

इलेक्ट्रॉनों के इस transfer के दौरान कार्बन-डाई-ऑक्साइड कम होती है और पानी का ऑक्सीकरण होता है. जिसके फलस्वरूप oxygen और कार्बोहाइड्रेट का निर्माण होता है

इस प्रक्रिया के दौरान पौधे कार्बन-डाई-ऑक्साइड ग्रहण करते हैं और Oxygen मुक्त करते हैं. इस प्रक्रिया को निम्न सूत्र द्वारा दर्शाया जा सकता है

 6CO2 + 12H2O + प्रकाश ऊर्जा → C6H12O6 + 6O+ 6H2O

Anoxygenic Photosynthesis in Hindi

इस प्रकार का प्रकाश संश्लेषण आमतौर पर कुछ जीवाणुओं में देखा जाता है. जैसे कि हरे सल्फर बैक्टीरिया और बैंगनी बैक्टीरिया जो विभिन्न जलीय आवासों में रहते हैं. इस प्रक्रिया के दौरान oxygen का निर्माण नहीं होता है. इस प्रक्रिया को निम्न सूत्र द्वारा दर्शाया जा सकता है

CO2 + 2H2A + प्रकाश ऊर्जा → [CH2O]+ 2A+ H2

FAQ’s – अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

प्रकाश संश्लेषण का सूत्र क्या होता है?

प्रकाश संश्लेषण का सूत्र 6CO2 + 6H2O + सूर्य का प्रकाश → C6H12O(ग्लूकोज)+ 6O2 होता है

प्रकाश संश्लेषण को परिभाषित कीजिए?

जब हरे-पेड़ पौधे कार्बन डाइऑक्साइड, पानी और सूर्य के प्रकाश की उपस्थिति में ग्लूकोज बनाते हैं तो इसे ही प्रकाश संश्लेषण की प्रक्रिया कहा जाता है

पेड़ पौधे कौन सी गैस ग्रहण करते हैं?

पेड़ पौधे कार्बन डाइऑक्साइड गैस को ग्रहण करते हैं और ऑक्सीजन को छोड़ते हैं

Read More – 

संक्षेप में (Prakash Sanshleshan Kya Hai)

मुझे उम्मीद है प्रकाश संश्लेषण क्या है – What is Photosynthesis in Hindi इसके बारे में आपको अच्छे से और आसान भाषा में जानकारी मिल गई होगी. उम्मीद है आपको यह जानकारी पसंद आई होगी. अगर आपको यह जानकारी कुछ काम की लगी है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिएगा और इसी तरह अपना प्यार MDS Blog के साथ बनाए रखिएगा

यह पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद !

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी ?

Average rating / 5. Vote count:

अब तक कोई वोट नहीं, इस पोस्ट को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें

MDS Thanks 😃

पोस्ट अच्छी लगी तो सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें

हमें खेद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी नहीं थी !

हमें बताएं कि हम इस पोस्ट को कैसे बेहतर बना सकते हैं ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker