Internet

इंटरनेट कुकीज क्या है इसके फायदे तथा नुकसान

आप सभी ने इंटरनेट कुकीज (Internet cookies) कहीं न कहीं देखी होंगी. किसी भी इंटरनेट ब्राउज़र में आप कुकीज जैसे विकल्प देख सकते हैं और कुकीज हटा सकते हैं या कुकीज को ब्लॉक कर सकते हैं. लेकिन क्या दोस्तों आप सही में जानते हैं कुकीज क्या है? (What is Cookies in Hindi).

दोस्तों आज की इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा कुकीज क्या है (What is Cookies) और यह कैसे काम करता है, इसके फायदे और नुकसान क्या-क्या है? इन सभी विषयों पर आज हम चर्चा करेंगे. तो आइए बिना देरी करे इंटरनेट कुकीज जोकि वेब कुकीज, ब्राउज़र कुकीज, HTTP कुकीज के नाम से जाने जाते हैं इनके बारे में जानते हैं.

कुकीज क्या है – What is Cookies in Hindi

कुकीज क्या है? (What is Cookies in Hindi)

आइए सबसे पहले बात करते हैं कि कुकीज वास्तव में क्या हैं? दोस्तों कुकीज वास्तव में फ़ाइलें हैं जो आपके इंटरनेट ब्राउज़र की Cache मेमोरी में संग्रहीत हैं. अब ये फ़ाइलें आपके द्वारा देखे जाने के बाद आती हैं. जब भी आप कुकी-सक्षम वेबसाइट में प्रवेश करते हैं और यदि आपके इंटरनेट ब्राउज़र पर कुकीज सक्षम हैं, तो वह वेबसाइट आपके ब्राउज़र Cache में कुकीज छोड़ देती है.

कुकीज आमतौर पर आपकी इंटरनेट सेवा की गुणवत्ता में सुधार के लिए उपयोग की जाती हैं. मान लीजिए आप अमेज़ॅन या ईबे जैसी ई-कॉमर्स साइट पर जाते हैं या टिकट या होटल बुकिंग साइट पर जाते हैं. तो ये साइट आपके कुकीज को आपके इंटरनेट ब्राउजर पर रख देगी.

अब, इन कुकीज को रखने के बाद, आप उन साइटों पर जाते हैं और किसी उत्पाद या स्थान की खोज करते हैं या लंबे समय तक किसी वस्तु की खोज करते हैं और थोड़े समय के लिए, यह सभी डेटा लगातार आपके इंटरनेट द्वारा वेबसाइट पर भेजे जाते हैं. इसलिए यदि आप बाद में उस वेबसाइट का उपयोग करते हैं, तो वह वेबसाइट आपको रिमांड परिणाम दिखाएगी.

मान लीजिए कि आपने पिछली बार अमेज़ॅन पर एक ब्रांड घड़ी की खोज की थी और वे डेटा कुकीज के माध्यम से अमेज़ॅन तक पहुंच गया है. अब यदि आप फिर से अमेज़ॅन पर जाते हैं. तो आपको अधिक ऐसी घड़ियाँ दिखाई जाएँगी जो आपको एक ही मूल्य श्रेणी के अंतर्गत विभिन्न प्रकार की हो. तो इसमें कुकीज उपयोगी होता है.

इंटरनेट कुकीज के लाभ

इंटरनेट कुकीज किसी वेबसाइट पर आपके द्वारा की जाने वाली गतिविधि के आधार पर आपके लिए सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद करती हैं. तो यह निश्चित रूप से एक अच्छी बात है. अगर आप पहली बार किसी वेबसाइट पर जाते हैं और कुछ सर्च करते हैं या कुछ सेटिंग्स करते हैं. तो उन कुकीज के साथ, दूसरी बार जब आप उस वेबसाइट पर जाते हैं तो आपको सब कुछ वापस मिल जाएगा.

कुकीज के माध्यम से फिर से आप अपनी आईडी और पासवर्ड का उपयोग करके एक वेबसाइट पर लॉग इन कर सकते हैं. यदि आईडी और पासवर्ड आपके ब्राउज़र में Save जाते हैं तो वह अलग है. लेकिन अगर वेबसाइट कुकीज सक्षम हैं तो आपकी कुकीज लॉक हो जाएगी जिससे पासवर्ड प्राप्त किया जा सकता है. इंटरनेट कुकीज के लाभ निम्न है –

  • कुकीज को आसानी से उपयोग में लाया जा सकता है
  • कुकीज जानकारियों को Save करने में बहुत कम डेटा का उपयोग करती है
  • कुकीज डाटा बचाने में सहायता करती है
  • कुकीज किसी वेबसाइट आपके लिए सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद करती हैं.

इंटरनेट कुकीज के नुकसान

अब तक इंटरनेट कुकीज के बारे में अच्छी बातें हुई हैं और हमने सीखा है कि कैसे ये कुकीज हमारी इंटरनेट सेवा की गुणवत्ता में सुधार करती हैं. लेकिन कुछ लोगों को लगता है कि कुकीज उनके व्यक्तिगत डेटा और इंटरनेट गतिविधि डेटा को चुरा रहे हैं. इसलिए अगर आपको चिंता का कोई डर नहीं है, तो आप कुकीज को निष्क्रिय कर सकते हैं. लेकिन व्यावहारिक दृष्टिकोण से, इन लोगों में से कुछ भयावह दावे सही है.

सबसे भयानक बात थर्ड पार्टी कुकीज हैं. दोस्तों आपने देखा होगा कि कई वेबसाइट पर कई तरह के Ad’s होते हैं. उनमें से कुछ में Popup Ad’s ऑन हैं. जहां क्लिक करने पर केवल 3-5 ब्राउज़र विंडो अपने आप खुल जाती हैं. यदि आप अपने ब्राउज़र पर थर्ड पार्टी कुकीज रखते हैं तो उन स्वचालित विंडो में खोली गई वेबसाइट्स सिस्टम को वायरस से जोड़ सकती है.

देखें कि आपके ब्राउज़र में कुकीज एन्क्रिप्टेड (Encrypted) नहीं हैं. इसका मतलब है कि आपके कंप्यूटर पर संग्रहीत इंटरनेट कुकीज आमतौर पर No-encryption के रूप में होती हैं.

यद्यपि आपका आईडी पासवर्ड या अन्य विवरण कुकीज में संग्रहीत हैं और लॉगिन जानकारी कुकीज में Save की गई है. अगर किसी विश्वसनीय वेबसाइट में भरोसेमंद कुकीज हैं, तो यह एक अच्छी बात है और यह केवल आपके इंटरनेट ब्राउज़र से उस वेबसाइट पर कुछ डेटा भेजता है.

लेकिन थर्ड पार्टी कुकीज न केवल किसी साइट के डेटा तक पहुँचते हैं बल्कि आपके द्वारा देखे जाने वाले सभी इंटरनेट डेटा किसी तीसरे पक्ष की वेबसाइट पर भेज देते हैं. यह आपके सभी ऑनलाइन लॉगिन Session डाटा को भी चुरा लेता है.

यदि कोई आपकी कुकीज चुराता है और उसे अपने ब्राउज़र में रखता है, तो उसे अब उस वेबसाइट पर लॉग-इन करने के लिए किसी आईडी या पासवर्ड की आवश्यकता नहीं होगी.

कई बार आप देखेंगे कि एक बार जब आप अपने फेसबुक अकाउंट में लॉग इन करते हैं अगर आप लॉगआउट नहीं करते हैं. तो अगली बार जब आप लॉग इन करेंगे, तो आपको लॉग इन करने के लिए आईडी और पासवर्ड की आवश्यकता नहीं होगी. क्योंकि फेसबुक आपके ब्राउज़र में इंटरनेट कुकीज में संग्रहीत फाइलों में आपके लॉग Session की जानकारी को रखता है.

इसके अलावा, यदि आप एक लॉगिन Session में अपना ईमेल पता, क्रेडिट कार्ड नंबर, अपना पता आदि दर्ज करते हैं, तो उन तृतीय पक्ष कुकीज को बहुत आसानी से चुराया जा सकता है.

थर्ड पार्टी कुकीज से कैसे सुरक्षित रहें?

इसे रोकने के लिए, आपको आपके वेब ब्राउज़र के सेटिंग विकल्प पर जाना है और “Block All Cookies” को सक्षम करना है. इसका मतलब यह है कि आपका इंटरनेट ब्राउज़र सभी प्रकार की वेबसाइटों को कुकीज रखने से रोकेगा. यह उन लोगों के लिए सबसे अच्छा विकल्प होगा जो इंटरनेट पर भरोसा नहीं कर सकते या जो हमेशा अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित रहते हैं.

आपके इंटरनेट ब्राउज़र में थर्ड पार्टी कुकीज को ब्लॉक करने का एक अन्य विकल्प भी है. इसका मतलब यह है कि कुकीज एक सामान्य वेबसाइट से आती हैं और वे आपकी सेवा की गुणवत्ता में सुधार के लिए ठीक हैं. लेकिन कुकीज जो किसी तीसरे पक्ष से आती हैं जोकि Pop-ads के रूप में होती है आपका ब्राउज़र उसे Block करेगा और आपको किसी दूसरे विंडो पर रीडायरेक्ट होने से रुकेगा.

आपके इंटरनेट ब्राउज़र में एक और विकल्प है जिसे चालू करने पर, आपके ब्राउज़र में कुकी लगाए जाने से पहले आपसे बार-बार अनुमति मांगी जाएगी. मान लीजिए कि आप किसी ब्राउज़र के माध्यम से एक वेबसाइट पर जाते हैं.

तो आपका ब्राउज़र पूछेगा कि क्या आप उस वेबसाइट के लिए कुकीज सक्षम करना चाहते हैं. यदि आप चाहें तो आप इसे सक्षम कर सकते हैं और यदि आप नहीं करना चाहते हैं तो आप Block कर सकते हैं.

अंत में, एक अन्य विकल्प Ad block extension का उपयोग करना है. इस प्रकार का विस्तार लगभग सभी प्रकार के ब्राउज़रों के लिए उपलब्ध है. आप इस Ad block extension का उपयोग करके कष्टप्रद पॉपअप विज्ञापनों और तृतीय-पक्ष कुकीज से बच सकते हैं और वेब पेज आपके ब्राउज़र में बहुत तेजी से लोड होंगे.

लेकिन एक अन्य बात, Ad block extension का उपयोग करने का मतलब है कि इंटरनेट Content makers की मदद करना ठीक नहीं मानते हो. Ad block extension का उपयोग उन लोगों के लिए बेहद हानिकारक है जो अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर विभिन्न Content बनाकर कमाते हैं.

इसलिए मेरी राय में, वे वेबसाइटें जो झुंझलाहट वाले विज्ञापनों या अधिक पॉपअप विज्ञापनों का उपयोग करती हैं. उन्हें सूचीबद्ध रैंक नहीं किया जाना चाहिए और आपके विश्वसनीय और पसंदीदा वेबसाइटों को श्वेत सूची में रखना चाहिए. इससे आपको और साथ ही कंटेंट बनाने वालों को भी फायदा होगा.

Read More – 

अंतिम शब्द

उम्मीद है आप कुकीज क्या है – What is Cookies in Hindi और कुकीज के लाभ और नुकसान के बारे में सब कुछ जान चुके हैं. कुकीज एक विश्वसनीय वेबसाइट से आ रही हैं. लेकिन एक दुर्भावनापूर्ण वेबसाइट या पॉपअप ऐड से कुकीज को Block करने से आपकी सुरक्षा सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी.

क्योंकि आप कभी नहीं जानते हैं कि तृतीय-पक्ष कुकीज आपकी किसी भी जानकारी को कैसे चुराएगी. अगर आपको पोस्ट पसंद आए तो कृपया इसे शेयर करें और यदि आपके कोई अतिरिक्त प्रश्न हैं तो कृपया मुझे बताएं.

दोस्तों अगर आप ऐसी ही जानकारियों को जानना चाहते हैं तो MDS BLOG के साथ जरूर जुड़िए. जहां की आपको हर तरह की नई-नई जानकारियां दी जाती है. यह पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद!

यह पोस्ट कितनी उपयोगी थी ?

Average rating / 5. Vote count:

अब तक कोई वोट नहीं, इस पोस्ट को रेट करने वाले पहले व्यक्ति बनें

MDS Thanks 😃

पोस्ट अच्छी लगी तो सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें

हमें खेद है कि यह पोस्ट आपके लिए उपयोगी नहीं थी !

हमें बताएं कि हम इस पोस्ट को कैसे बेहतर बना सकते हैं ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Please allow ads on our site !

Looks like you're using an ad blocker. We rely on advertising to help fund our site.